अगर बढ़ती उम्र में इश्क हो तो

अगर बढ़ती उम्र में इश्क हो तो ताज्जूब ना कर ऐ गालिब…,
आखिर,
पुरानी गेंदे ही तो रिवर्स स्विंग लेती है…
🙂

Leave a Comment