Yaad Shayari, याद आप को किये बिना

याद आप को किये बिना, Yaad Shayari
तोड़ दो न वो क़सम जो खाई है, कभी कभी याद करलेने मैं क्या बुराई है,
याद आप को किये बिना रहा भी तो नहीं जाता, दिल में जगा अपने ऐसी
जो बनाई है….!!!